loading...
कुछ इस तरह चुरा लेते है आपसे पेट्रोलपंप पर आपसे पेट्रोल, और आपको पता भी नही चलता!

कब भरवा रहे हैं पेट्रोल :-

आप पेट्रोल कब भरवा रहे हैं, यह पहलू भी महत्वपूर्ण है। अगर आप दोपहर को पेट्रोल भरवा रहे हैं तो आपका फायदा कम होगा। सुबह और रात में पेट्रोल भरवाने में आप उसी पैसे में ज्यादा फायदा ले सकते हैं। पेट्रोल पम्प पर पेट्रोल को स्टोर करने के लिए थोड़ी दूर पर टैंक बनाया जाता है। यह जमीन से 4 से 6 मीटर नीचे बनाया जाता है। 





यहां स्टोर पेट्रोल को गर्म होने में गर्मी दोपहर में ही मिलती है। इसका मतलब है कि सुबह और रात को तापमान कम रहता है और पेट्रोल जमा हुआ रहता है। और जब आप सुबह/रात में पेट्रोल भरवाते हैं तो आपको उसी पैसे में प्वांइट-टू-प्वाइंट पेट्रोल मिलता है और आपका माइलेज ज्यादा रहता है। जबकि दोपहर में पेट्रोल का घनत्व फैलता है और आपको कम पेट्रोल मिलता है।

सूने पम्प पर न जाएं :-

हमेशा पेट्रोल  उसी पम्प से भरवाएं जहां कुछ लोग पेट्रोल  लेने के लिए मौजूद हों। अगर आप सूने  पेट्रोल पम्पों पर पेट्रोल भरतवाते हैं, तो  आपको पेट्रोल कम मिल सकता है। ध्यान  रखें, अगर आप सूनी पेट्रोल पम्प मशीन से  पेट्रोल ले रहे हैं तो, नोजॅल में पेट्रोल  आने से पहले वाली हवा आपकी गाड़ी की  टंकी में भर जाए और आपको कुछ  प्वाइंट्स का नुकसान हो जाए।


रिजर्व से पहले भरवाएं पेट्रोल :-

बहुत  कम लोगों को पता है कि खाली टैंक में  पेट्रोल भरवाने से नुकसान होता है। इसका  कारण है कि जितना खाली आपका टैंक  होगा, उतनी ही हवा टैंक में मौजूद रहेगी।  ऐसे में आप पेट्रोल भरवाते हैं, तो हवा के  कारण पेट्रोल की मात्रा कम मिलेगी। इसलिए  कम से कम टैंक के रिजर्व तक आने का  इंतजार नहीं करें। आधा टैंक हमेशा भरा  रखें।


स्टाइल छोड़ें, उतरें कार से :-

अधिकांश लोग जब अपनी कार में पेट्रोल/डीजल भरवाते हैं तो गाड़ी से नीचे नहीं उतरते हैं। इसका फायदा उठाते हैं पेट्रोलपम्पकर्मी। पेट्रोल भरवाते समय कार से उतरें और मीटर के पास खड़े हों और सेल्सकर्मी की सारी गतिविधियों को देखें। इससे आपके साथ चीटिंग होने के मौके बेहद कम हो जाते हैं।

जीरो देखा की नहीं :-

हो सकता है  आपको बातों में लगाकर पेट्रोल पम्पकर्मी  जीरो तो दिखाए, लेकिन मीटर में आपके  द्वारा मांगा गया पेट्रोल का मूल्य नहीं सेट  करे। आजकल सभी पेट्रोल पम्प पर डीजीटल  मीटर होते हैं। इनमें आपके द्वारा मांगा गया  पेट्रोल फीगर और मूल्य पहले ही भरा  जाता है। इससे पेट्रोलपम्प कर्मी की  मनमानी और चीटिंग करने की गुजांइश  बेहद कम हो जाती है।


रीडिंग हो इससे स्टार्ट :-

पेट्रोल पम्प  मशीन में जीरो फीगर तो आपने देख लियालेकिन रीडिंग स्टार्ट किस फीगर से हुई।  सीधे 10, 15 या 20 से। मीटर की रीडिंग कम से कम 3 से स्टार्ट  हो। अगर 3 से ज्यादा अंक पर जम्प हुआ  तो समझो आपका नुकसान भी उतना ही  होगा।

मीटर चला रहा तेज :-

आपने पेट्रोल आर्डर किया और मीटर बेहद तेज चल रहा है, तो समझिए कुछ गड़बड़ है। पेट्रोलपम्पकर्मी को मीटर की स्पीड नार्मल करने को कहें। हो सकता है तेज मीटर चलने से आपकी जेब कट रही हो।

डिजीटल मीटर वाले पम्प पर ही जाएं :-

देश में लगातार पुरानी पेट्रोल पम्प मशीनें  हटाई जा रहीं हैं और डीजीटल मीटर वाले  पम्प इंस्टाल किए जा रहे हैं। आपभी ध्यान  रखें, हमेशा डीजीटल मीटर वाले पेट्रोल  पम्प से ही पेट्रोल/डीजल भरवाएं। पुरानी  पेट्रोल पम्प मशीनों में कम पेट्रोल भरे जाने  की पूरी संभावना रहती है।

रूक-रूक कर चल रहा मीटर :-


अक्सर आपने देखा होगा कि पेट्रोल भरने के समय मीटर बार-बार रूक जाता है। लेकिन इसी तरह रूक-रूक कर आपको मांगा गया पेट्रोल दे दिया जाता है। खबरदार, ऐसे पेट्रोल पम्प में खराबी होती है। बार-बार रूकने से आपको कई प्वाइंट्स का नुकसान होता है।
loading...
हमसे जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज को Like करे
loading...

SHARE THIS
Previous Post
Next Post