loading...
Video : मोदी जी हमें बचा लो, दिनभर रेप करके रात भर खाना बनवाते हैं सेना के लोंग...

बलूची महिलाओं पर  पाकिस्तानी आर्मी का जुर्म दिन दोगुना, रात चौगुनी बढती जा रही है । दिन भर उनका  रेप होता है कुत्तों के जैसे उन के जिस्म को नोचते हैं आर्मी वाले  और फिर उनसे  रात भर खाना भी बनवाया जाता है।



फरजाना मजीद बलूच  जो की बलूच मानवाधिकार ऐक्टिविस्ट हैं वो बलूचिस्तान में  पाकिस्तानी सेना द्वारा किए जा रहे मानवाधिकारों का उल्लंघन  एवं महिलाओं पर हो रही अत्याचार की तुलना १९७१  मैं हुई बांग्लादेश की आजादी की लड़ाई से की है।

फरजाना मजीद बलूच  ने कहा की इतिहास खुद को दोहरा रहा हैपाकिस्तानी आर्मी द्वारा बलूची महिलाओं को अपना निशाना बनाना, १९७१ में महिलाओं के साथ हुये रेप और ज्यादती जितना बुरा है।

फरजाना ने  ये भी बताया, की पिछले २ दिनों से एक बलूच ऐक्टिविस्ट के घर कोपाकिस्तान के पैरामिलिटरी फोर्सेज ने महिलाओं  एवं बच्चों समेत घेर रखा है। पैरामिलिटरी फोर्सेज ने इस से पहले ४० से ज्यादा महिलाओं को उनके बच्चों  के समेत बलूचिस्तान के बोलन इलाके से किड्नेप कर लिया था।


फरजाना ने  आगे कहते हुये ये बताया की कि कोहलू और डेराबुग्ती इलाके में किये गये मिलिटरी ऑपरेशन के बाद से जरीना मर्री  एवं २ अन्य महिलाएं लापता हैं। आप समझ सकते हैं उन के साथ क्या हो रहा होगा देखें विडियो...


loading...
हमसे जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज को Like करे
loading...

SHARE THIS
Previous Post
Next Post