loading...
चीन की आई अकल ठिकाने, भारतीय जनता के बायकॉट 6 साल पीछे पहुंचा!

भारत में चीनी सामानों के बायकॉट का असर ड्रैगन के मुद्रा पर भी देखा जा रहा है। चीन की मुद्रा युआन की केंद्रीय समता दर अमेरिकी डॉलर के मुकाबले छह वर्षो के सबसे निचले स्तर तक पहुंच गई है।



चाइना फॉरेन एक्सचेंज ट्रेड सिस्टम के मुताबिक आन की केंद्रीय समता दर अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 122 आधार अंक घटकर 6.7858 हो गई है।

डॉलर के मुकाबले युआन का केंद्रीय समता मूल्य प्रत्येक कारोबारी दिन अंतरबैंक बाजार खुलने से पहले बाजार के विविध घटकों द्वारा पेश मूल्य के भारित औसत के बराबर होता है।

भारत से दुरी ठीक नही :-

चीन के सरकारी मीडिया का मानना है कि भारत में निवेश करने वाली चीन की कंपनियों में उत्सुकता को कुछ अधिक बढ़ाचढ़ाकर बताया जा रहा है।

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स के अनुसार भारत के विनिर्माण क्षेत्र की तेज रफ्तार से निवेशक मोटा मुनाफा कमा सकते हैं और वहां से दूर रहना निश्चित रुप से एक अविवेकपूर्ण फैसला होगा।
ग्लोबल टाइम्स में प्रकाशित एक लेख में कहा गया है कि भारत के विनिर्माण क्षेत्र की तीव्र वृद्धि में अभी चीन की पूंजी का मामूली योगदान है। साथ ही, लेख में यह भी कहा गया है कि भविष्य में भारतीय बाजार मोटा मुनाफा कमाएगा, जो सभी पक्षों के लिए लाभ की स्थिति होगी।

नैशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनैशनल स्ट्रैटजी ऑफ चाइनीज अकादमी ऑफ सोशल साइंसेज के रिसर्च फेलो जी चेंग ने कहा, 'दूसरे शब्दों में कहा जाए तो चीन के पास भारत के विनिर्माण विकास को सीमित करने की क्षमता नहीं है। चीन सिर्फ चाइनीज निवेश को भारत के वृद्धि परिदृश्य में शामिल होने से रोक सकता है, जो कि एक अविवेकपूर्ण विकल्प होगा।'
loading...
हमसे जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज को Like करे
loading...

SHARE THIS
Previous Post
Next Post