loading...
चाय बेचने वाले के बेटे ने किया ऐसा कमाल, चूल्हे से चार्ज करता है मोबाइल, देखिए....

उदयपुर का एक आठवीं पास लड़का बिना किसी इंजीनियरिंग की डिग्री-डिप्लोमा के ही साइंटिस्ट जैसी भूमिका में सामने आया है। चाय की दुकान चलाते-चलाते उसने एक ऐसा उपकरण तैयार कर लिया है, जिसे देख लोग हैरान हैं। पूरे क्षेत्र में वह इन दिनों चर्चा का विषय बना हुआ है।



आईए जानते हैं क्या है यह उपकरण, क्या है इसके फायदे। गोवर्धन नाम का एक लड़का उदयपुर के चीरवा गांव में रहता है। इसी गांव में वह चाय की दुकान चलाता है। चाय बनाना, लोगों को परोसना और फि‍र वही चाय के कप धोकर रखना।

उसकी दिनचर्या ऐसी ही कुछ है। इसी दिनचर्या में से उसने अपने लिए कुछ ऐसा कर दिया, जिसे देख बड़े-बड़े साइंटिस्ट भी चकरा जाएं।

उसने एक ऐसे चूल्हे को विकसित किया है। जो की न सिर्फ खाना बनाने का काम करता है बल्कि इससे बिजली भी बनती है। यह चूल्हा थ्री-इन-वन के रूप में काम करता है।

और इस चूल्हे से जिस समय चाय बनती है, उसी समय खाना भी बन जाता है। यही नहीं इसी दौरान बिजली भी बननी शुरू हो जाती है।

यानी चाय और खाना एक साथ वो भी एक ही चूल्हे से। यानी दोगुनी ईंधन की बचत। साथ ही उसी ईंधन से घर के लिए बिजली भी तैयार।

ऐसे बनाया गया यह चूल्हा..

गोवर्धन ने इस चूल्हे में कॉइल के साथ में एक छोटा पावर जेनरेटर जोड़ दिया है। यह गर्म धुएं और हीट में काम करता है। और जैसे ही इस चूल्हे में लकड़ी या उपले डालते हैं, हीट और धुआं पैदा होता है।

इसी धुआं से चूल्हे में लगा इंजन गर्मी के प्रेशर से काम करना शुरू कर देता है। बस इसी से इंजन काम करना शुरू कर देता है और बिजली बनने लगती है। इस चूल्हे में एक स्विच बोर्ड भी लगा दिया है।


इस स्विच से चूल्हे में बनी बिजली को अपने काम में लिया जा सकता है। इससे इतनी बिजली तो बन ही जाती है कि एक मोबाइल चार्ज हो जाए। घर में रोशनी हो सके। गोवर्धन ने 2 माह की मेहनत में यह काम कर दिखाया है।

Disclaimer : chulhe se mobile charge karna.
loading...
हमसे जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज को Like करे
loading...

SHARE THIS
Previous Post
Next Post