loading...
बंद हुए 500-1000 के नोट तो नेता ने गरीबों में बांटें....

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंगलवार की घोषणा के बाद 500-1000 के नोट बैन कर दिए गए। उसके बाद बुधवार से देशभर में अफरा-तफरी का माहौल देखने को मिल रहा है।



कर्नाटक के कोलार में लोकल लीडर्स ने पांच सौ और हजार के नोट बंद होने के बाद गांव के गरीब लोगों के लिए एक लोन मेला लगाया। उन्होंने हर व्यक्ति को 3-3 लाख रुपए बांटे हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार की मानें तो उन्हें ये पैसे बाद में नए नोट के रूप में वापस करने होंगे।

वहीँ कई लोगों को मुश्किलों का सामना भी करना पड़ रहा है। जैसे की पंजाब में 10 रुपए का गवाह बना 500 का नोट...

अस्पताल में बने मेडिकल स्टोर पर बुधवार सुबह एक मरीज 10 रुपये के लिए 500 रुपए गिरवी रख गया। मरीज जसमीत सिंह ने बताया कि उसे जरूरी दवा चाहिए थी। इसलिए उसने 10 रुपए के बदले 500 रुपए का नोट गिरवी रख दिया।

उत्तरप्रदेश: बनारस में मणिकर्णिका घाट पर अंतिम संस्कार में अड़चन :-


काशी में 500 और 1000 के नोट बंद होने से शवों के अंतिम संस्कार के लिए लकड़ी खरीदने में लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। यहां पांच सौ के नोट के बदले चार सौ रुपए दिए जा रहे हैं। टोल प्लाजा पर लोगों की लंबी कतारें लगी है।
loading...
हमसे जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज को Like करे
loading...

SHARE THIS
Previous Post
Next Post