loading...
गजेन्द्र के परिवार वाले बोले - केजरीवाल ने हमें क्यों नही दिए 1 करोड़ रुपये?

नई दिल्ली में आम आदमी पार्टी की रैली के दौरान सुसाइड करने वाले राजस्थान के किसान गजेंद्र सिंह के परिवार ने दिल्ली सरकार की कार्यशैली को कटघरे में रखा है।



गजेंद्र के परिवार ने दिल्ली की केजरीवाल सरकार पर सुसाइड करने वाले व्यक्तियों को दी जाने वाली मुआवज़ा राशि को लेकर दोहरे मापदंड अपनाने का आरोप लगाया है। 

सुसाइड करने वाले गजेंद्र सिंह के छोटे भाई देवेंद्र सिंह ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा की, ''दिल्ली सरकार ने पिछले दिनों वन रैंक वन पेंशन के मुद्दे को लेकर सुसाइड करने वाले पूर्व सैनिक राम किशन ग्रेवाल के परिवार को एक करोड़ रूपए बतौर मुआवज़ा राशि देने की घोषणा की है। सरकार का ये रुख भेदभावपूर्ण है।''

देवेंद्र ने कहा, ''हम राम किशन को दिए जाने वाले मुआवज़ा राशि के खिलाफ नहीं है, लेकिन हमारे परिवार में दिल्ली की केजरीवाल सरकार की कार्यशैली के प्रति नाराज़गी है। यदि राम किशन को सुसाइड करने पर सरकार एक करोड़ की का मुआवज़ा देती है तो फिर गजेन्द्र की सुसाइड के समय सरकार ने इस तरह का रुख क्यों नहीं अपनाया।'


गौरतलब है कि राजस्थान के दौसा ज़िले के रहने वाले गजेंद्र सिंह ने अप्रैल 2015 में दिल्ली के जंतर-मंतर पर आप पार्टी की किसान रैली के दौरान ही पेड़ पर फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली थी। गजेंद्र ने आत्महत्या करने से पहले इसकी धमकी भी दी थी लेकिन किसी ने उसे बचाने की कोशिश नहीं की। गजेन्द्र केंद्र के भूमि अधिग्रहण कानून को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे।  
loading...
हमसे जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज को Like करे
loading...

SHARE THIS
Previous Post
Next Post