loading...
सालियों ने जूता चुराई में 1000-1000 के नोट लेने से किया मना, फिर जीजा ने मजबूरन उठाया यह कदम..

मोदी सरकार द्वारा ब्लैक मनी पर किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के कारण आम लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा रहा है। सबसे ज्यादा परेशानी शादी वाले घरों में देखने को मिल रही है।



यूपी के दादरी में भी एक शादी के दौरान कुछ ऐसी ही स्थिति बन गई, जिसको लेकर वर और वधु पक्ष दोनों के लिए मुश्किलें खड़ी हो गईं। यह समस्या शादी से पहले होने वाली जूता चुराई की रस्म के दौरान उतपन्न हुई।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दादरी के डेरी मच्छा गांव में गुरुवार को बरात आई थी। शादी की रस्में पूरी होने के बाद जूता चुराई की रस्म में जूता वापस करने के बदले में सालियों ने जीजा से 11 हजार रुपए देने की मांग की। बदले में जीजा ने 1000 के 21 नोट निकालकर साली के हाथों में थमा दिए।

साली ने इन्हें नहीं चलने वाले नोट करार देते हुए लेने से इनकार कर दिया। इसके बाद वर और वधु पक्ष दोनों के सामने समस्या खड़ी हो गई। वर पक्ष के लोगों ने सालियों को 31 हजार तक देने की पेशकश की, लेकिन वह नहीं मानी। जीजा-साली के बीच जारी मान-मुनौवल के बीच बड़े बुजुर्गों के समझाने के बाद दुल्हें ने सालियों को 21 हजार रुपए का चेक दिया। तब जाकर शादी की बाकी रस्में पूरी हो सकी।

गौरतलब है कि नवंबर महीने में शादियों की भरमार है। इस बीच बड़े नोट बंद किए जाने और नए नोट सीमित मात्रा में मिलने के चलते लोगों के सामने समस्या खड़ी हो गई है। विवाह के इस सीजन में पूरे देश में करीब 50 लाख शादियां होनी है, अकेले दिल्ली में 40 हजार से ज्यादा शादियां हैं। ऐसे में लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा रहा है।


8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए ऐलान किया था कि मंगलवार रात्रि 12 बजे के बाद से 500 और 1000 रुपए के नोट अमान्य हो जाएंगे। हालांकि सरकार ने मानवीय आधार पर कुछ स्थितियों में पुराने नोट चलने की छूट दी थी। इनमें पेट्रोल पंप, सीएनजी फिलिंग स्टेशन, मेट्रो सेवा, ट्रेन और बस की टिकट, अस्पताल शामिल है, जहां पुराने नोट 14 नवंबर रात 12 बजे तक चलाए जा सकेंगे। पहले यह अवधि 11 नवंबर तक थी, बाद में इसे बढ़ाया गया।
loading...
हमसे जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज को Like करे
loading...

SHARE THIS
Previous Post
Next Post