loading...
यह तरीका अपनाकर फिर से कुंवारी बन रही है भारतीय लड़कियां, जानकर दंग रह जायेंगे आप भी..

हेदराबाद के बंजारा हिल्स इलाके में रहने वाली हेमंथा कुछ महीने पहले अपनी बेटी को लेकर एक प्लास्टिक सर्जन के पास गईं। वह चाहती थीं कि डॉक्टर उनकी बेटी के हिमन को ऑपरेशन कर दोबारा बना दे। हेमंथा की बेटी बैडमिंटन खिलाड़ी हैं।



खेल के दौरान संभव है कि उनका हेमन टूट गया हो। वह कहती हैं, 'मैंने अपनी बेटी की हिमनप्लास्टी कराई। मुझे लगा था कि शादी के बाद शायद उसका पति सोचे कि वह कुंआरी नहीं है। अगर ऐसा होता, तो उसकी शादी में मुश्किलें आतीं।'

ऐसा सोचने वाली हेमंथा अकेली नहीं हैं। डॉक्टरों का कहना है कि काफी संख्या में युवा महिलाएं हिमनप्लास्टी करवा रही हैं। इस ऑपरेशन में 40 मिनट लगते हैं। इसके द्वारा टूट चुकी हिमन झिल्ली को दोबारा बनाया जाता है। सनशाइं अस्पताल में प्लास्टिक सर्जन डॉक्टर भवानी प्रसाद ने बताया कि उनके पास साल भर में करीब 50 ऐसे केस आते हैं।

पहले इस तरह के ऑपरेशन करवाने के लिए सालाना बस 2 से 3 महिलाएं आती थीं। डॉक्टर प्रसाद बताते हैं, 'हमारे समाज में महिलाएं सोचती हैं कि हिमन को फिर से बनवाना शादीशुदा जिंदगी की शुरुआत के लिए बेहद जरूरी है। उन्हें लगता है कि भले ही उनका होने वाला जीवनसाथी कितने भी आधुनिक विचारों का हो, लेकिन फिर भी वह अपनी एक कुआंरी पत्नी ही चाहता है।'

इस ऑपरेशन में महिला की योनि के अंदर करीब 1 इंच लंबा मेम्ब्रेन बनाया जाता है। इसका जख्म जल्दी भर जाता है और ऑपरेशन का कोई निशान भी नहीं रहता, लेकिन फिर भी ऑपरेशन कराने वाली महिलाओं को कुछ हफ्तों तक कोई भी भारी काम ना करने की सलाह दी जाती है।

डॉक्टरों के मुताबिक, ऐसा नहीं है कि शादी से पहले सेक्स कर चुकी महिलाएं हीं यह ऑपरेशन करवाती हैं। असल में हिमन झिल्ली इतनी नाजुक होती है कि डांस करने या फिर किसी भी अन्य तरह की भारी शारीरिक गतिविधि के कारण भी यह टूट जाती है। आमतौर पर माना जाता है कि पहली बार सेक्स करने पर ही यह झिल्ली टूटती है। पारंपरिक तौर पर इसे लड़की के कुआंरेपन का प्रतीक माना जाता है।

यह ऑपरेशन आसान होता है, लेकिन फिर भी डॉक्टर इसे किसी विशेषज्ञ से ही कराने की सलाह देते हैं। आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में प्लास्टिक सर्जन असोसिएशन के अध्यक्ष डॉक्टर सुधाकर प्रसाद ने बताया, 'यह ऑपरेशन प्लास्टिक सर्जन से कराया जाना चाहिए। यह काफी संवेदनशील प्रक्रिया है और अनुभवी सर्जनों को ही यह करना चाहिए।


इसकी बढ़ती मांग के कारण कई स्त्री रोग विशेषज्ञ भी यह कर रहे हैं। अगर बहुत जरूरी ना हो, तो यह ऑपरेशन नहीं कराना चाहिए।' हिमन सर्जरी के अलावा इन दिनों योनि की मांसपेशियों को टाइट करने के लिए भी ऑपरेशन की मांग बढ़ रही है। 40 साल की एस सुचरित्रा बताती हैं, 'मेरे पति चाहते थे कि मैं अपनी योनि को ऑपरेशन के मदद से टाइट करवाऊं। उन्हें किसी डॉक्टर ने इसके बारे में बताया था।'
loading...
हमसे जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज को Like करे
loading...

SHARE THIS
Previous Post
Next Post
12 January 2017 at 15:45

dhoka dena chahti hain jo girls apne hone wale husband ko. apna ganda character chhipana chahti h wahi dhokebaz ladki esa kregi par bato sawal jwab aur havbhav sab sach bta deta h mat bhulns.

Reply
avatar